Search
Friday 19 October 2018
  • :
  • :
Latest Update

मुख्यमंत्री ने चैल चौक में रखी मुख्य सिंचाई योजना की आधारशिला

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने 1008.55 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली उठाऊ सिंचाई योजना चैल चौक तथा 147.88 लाख रुपये लागत की जलापूर्ति योजना बाढू-डुगरांई की आधारशिलाएं रखीं। उन्होंने कहा कि उठाऊ सिंचाई योजना 405.61 हैक्टेयर क्षेत्र को सिंचाई सुविधा प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि जलापूर्ति योजना का निर्माण पूरा होने पर आठ गांवों की 5000 की आबादी को पेयजल सुविधा प्रदान होगी।
मुख्यमंत्री ने आज मण्डी जिले के चैल चौक में एक भारी जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के किसानों की आर्थिकी को मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2018-19 के लिए प्रस्तावित बजट में सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 2572 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है। इसके अतिरिक्त, आगामी वित्त वर्ष के बजट में पेयजल योजनाओं के लिए 275 करोड़ रुपये आवंटित किय गए हैं।
श्री जय राम ठाकुर ने कहा कि लोगों को पेयजल प्रदान करना राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि अभी तक कुल 53604 बस्तियों में से 42522 बस्तियों को पेयजल सुविधा प्रदान करवाई गई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2018-19 के बजट में ‘जल से कृषि को बल’ एक नई योजना प्रस्तावित है, जिसके अन्तर्गत आगामी पांच वर्षों में राज्य के किसानों को बेहतर सिंचाई सुविधाएं प्रदान करने पर 250 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि जिले से कुछ काबिल व सक्षम नेताओं के बावजूद मुख्यमंत्री न मिल पाना मण्डी जिले का दुर्भाग्य रहा है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनावों में नाचन के विधायक भारी मतों से विजयी हुए हैं, जो स्थानीय विधायक के समर्पण तथा लोकप्रियता को दर्शता है।
मुख्यमंत्री ने राज्य के विकास के लिए प्रदेश के लोगों को सुझावों के साथ आगे आने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि हमें पूरे समर्पण तथा प्रतिबद्धता के साथ कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि लोगों को नई सरकार से बड़ी अपेक्षाएं हैं। उन्होंने कहा कि हमें लम्बी दूरी तय करने के लिए मजबूती के साथ आगे बढ़ना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने टोपी की राजनीति के युग का अन्त कर दिया है, जिसने दुर्भाग्यपूर्ण राज्य के लोगों को क्षेत्रीय आधार पर विभाजित किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के वर्तमान अढ़ाई महीनों के कार्यकाल में राज्य के सभी क्षेत्रों का विकास तथा समाज के सभी वर्गों का कल्याण सुनिश्चित बनाने के प्रयास किए गए हैं। उन्होंने कहा कि बजट में नई योजनाओं की घोषणाओं के लिए पर्याप्त बजट प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित बजट को उनके राजनीतिक प्रतिद्वंदियों ने भी सराहा है। उन्होंने कहा कि पिछली कॉंग्रेस सरकार ने अपने कार्यकाल के अन्तिम दिनों के दौरान बिना किसी बजट प्रावधानों के अनेक घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि पिछली कॉंग्रेस सरकार ने बिना बजट प्रावधान के 16 डिग्री कॉलेजों की घोषणाएं की।

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने परित्यकता पशुओं के संरक्षण के लिए एक विशेष योजना शुरू की है। उन्होंने कहा कि मन्दिरों में कुल चढ़ावे का 15 प्रतिशत राज्य में संचालित गौ सदनों के लिए प्रदान किया जाएगा। इसके अलावा, राज्य में शराब की प्रत्येक बोतल की बिक्री पर एक रुपया गौ सदनों के विकास, निर्माण तथा रख-रखाव के लिए वसूला जाएगा। मुख्यमंत्री ने उनपर विश्वास जताने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि राज्य में पिछली सरकार की गलत नीतियों के कारण अकेले आबकारी विभाग में 200 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ।

मुख्यमंत्री ने उठाऊ जलापूर्ति योजना मालणू के लिए 15 लाख रुपये, जलापूर्ति योजना धालाधार के लिए 50 लाख रुपये, ग्राम पंचायत बासा की जलापूर्ति योजना बाढू-डुगरियां के लिए 15 लाख रुपये, प्लाटा के समीप जलापूर्ति के लिए 40 लाख, जवाल से सरोवा उठाऊ जलापूर्ति योजना के लिए 30 लाख, रेशम उत्पादन केन्द्र सैण के लिए 30 लाख, क्लस्टर रेशम उत्पादन विकास के लिए 2.50 करोड़, गोहर तथा चैल चौक बस अड्डों के निर्माण के लिए 20-20 लाख रुपये तथा महिला मण्डल सुरान्दी के लिए 2 लाख रुपये की घोषणा की। उन्होंने आश्वासन दिया कि उपयुक्त भूमि चिन्हित करने के तुरन्त बाद नाचन क्षेत्र में हैलीपैड का निर्माण किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने माध्यमिक पाठशाला पिपलागलू, नगौण, बराटा तथा जंजहर को उच्च पाठशालाओं में स्तरोन्नत करने, उच्च पाठशाला तरौर को वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला में, संयाज में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, मोटर मकैनिक के तीन नए पाठयक्रम, डै्रस मेकिंग, कटिंग व टेलरिंग, गडारी में पहला मुख्यमंत्री आदर्श विद्या केन्द्र, चैल चौक में प्रथम मुख्यमंत्री लोक भवन के लिए 30 लाख रुपये, विद्यार्थियों की संख्या के अनुरूप राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मावीसेरी में विज्ञान अथवा वाणिज्य की कक्षाएं, वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जय देवी में विज्ञान प्रयोगशाला तथा बासा में बास्केट बॉल कोर्ट के लिए 10 लाख रुपये की घोषणा की।

मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए विभिन्न संगठनों ने किया अंशदान
लोकमित्र संघ के अध्यक्ष सीता राम चौहान ने 5100 रुपये का अंशदान, नाचन के पूर्व अध्यक्ष गिरधारी लाल ने 5001 रुपये, सांग के प्रधान व उप-प्रधान ने 31 हजार रुपये, एसडीएम तथा तहसील कार्यालय कर्मचारियों ने 51000, सी.एण्ड वी. एसोसिएशन ने 31000, केन्द्रीय मुख्याध्यापकों ने 11000, महिला मण्डल धार सरोड़ी ने 31000, हिलवैली ट्रक ऑप्रेटर यूनियन ने 5100 तथा व्यापार मण्डल चैल चौक व गोहर ने 22000 रुपये का अंशदान किया।

नाचन युवा मोर्चा ने मुख्यमंत्री को तलवार भेंट कर सम्मानित किया। कमरूनाग देवता समिति ने मुख्यमंत्री को एक समृति चिन्ह भेंट किया।
मुख्यमंत्री का सुन्दरनगर से चैल चौक के बीच चौक गांव, निचली बहली, दयारगी, कोट, बग्गी तथा मगर-पादरु पंचायतों के लोगों ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंत्री श्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि मण्डी के लोगों के लिए यह वास्तव में गौरव के पल हैं। मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर के सादगीपूर्ण स्वभाव की प्रशंसा करते हुए महेन्द्र सिंह ने कहा कि उन्होंने डॉ. वाई एस परमार के अलावा राज्य के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ काम किया है, लेकिन इनके समान जमीन से जुड़ा मुख्यमंत्री नहीं देखा। उन्होंने लोगों से आम तौर पर प्रदेश और विशेष रूप से मण्डी जिले का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित बनाने के लिए मुख्यमंत्री को खुले दिल से सहयोग देने का आग्रह किया।

स्थानीय विधायक विनोद कुमार ने क्षेत्र में पर्यटन विकास की सम्भावनाओं का पता लगाने के लिए मुख्यमंत्री से आग्रह किया। उन्होंने करोड़ों रुपये की दो योजनाओं की आधारशिलाएं रखने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। उन्होंने क्षेत्र की विभिन्न मांगें भी रखी। भाजपा मण्डल नाचन के अध्यक्ष जोगिन्द्र राणा ने स्वागत किया तथा क्षेत्र की मांगें रखीं। करसोग के विधायक हीरा लाल, जिला परिषद मण्डी के सदस्य किशोर तथा जिला के अन्य विरष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *